बलात्कारी बाप दोषी करार

सोलन। बलात्कार के आरोपी 50 वर्षीय बाप को दोषी करार देते हुए सत्र न्यायाधीश एससी कैंथला की अदालत ने 10 साल कठोर कारावास और 25 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना न अदा करने की सूरत में दोषी को एक साल का कठोर कारावास भुगतना होगा।
वहीं धारा 506 के तहत एक साल की कैद और 5000 जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना न अदा करने की एवज में दोषी को एक साल अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। अभियोजन पक्ष की तरफ से मामले की पैरवी उप न्यायवादी एसएस कौंडल ने की है। पक्ष और पक्ष की दलीलें सुनने के बाद माननीय अदालत ने यह फैसला सुनाया है।
उन्होंने बताया कि दोषी दीप राम पुत्र दुर्गा राम निवासी पडिगयाणी पीओ कुमारहट्टी जिला सोलन का रहने वाला है। अप्रैल 2010 में घरवाले सभी बाहर किसी शादी में गए थे तो दोषी ने अपनी ही बेटी के साथ बलात्कार करना चाहा, लेकिन लड़की के चीखने चिल्लाने के बाद उसने गंदा इरादा बदल दिया। लेकिन दोषी बाप मौके की फिराक में था। एक दिन जब घर में कोई नहीं था तो उसने अपनी बेटी की इज्जत तार-तार कर डाली। उसके बाद 05-06 बार उसने अपनी ही बेटी को हवस का शिकार बनाया और बात जगजाहिर करने पर जान से मारने की धमकी देता रहा।
06-04-2011 दीप राम अपने बेटे के कमरे में इस घिनौने कृत्य का अंजाम देने लगा। ठीक उसी समय महिला रिश्तेदार ने दरवाजा खोल दिया। यह सब देखकर वे दंग रह गई। पीड़िता बच्ची की मां को जब पता चला तो उसने बच्ची को सुरक्षा का दिलासा दिया और पीड़ित बच्ची आपबीती सुनाई। पुलिस में शिकायत की गई। मामला धर्मपुर पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया। बुधवार को अदालत ने इस संदर्भ में बाप तो दोषी करार दिया।

Related posts