बड़ी आतंकी साजिश नाकाम, जम्मू में सात किलो आईईडी के साथ छात्र गिरफ्तार

बड़ी आतंकी साजिश नाकाम, जम्मू में सात किलो आईईडी के साथ छात्र गिरफ्तार

जम्मू
पाकिस्तान के इशारे पर रविवार को पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर जम्मू को दहलाने की आतंकी साजिश पुलिस ने नाकाम कर दी। पुलिस ने सात किलो शक्तिशाली आईईडी के साथ एक नर्सिंग छात्र सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पाकिस्तान के आतंकी संगठन अल-बद्र ने उन्हें चार चिह्नित स्थानों में से किसी एक जगह आईईडी फिट करने का जिम्मा सौंपा था। पकड़े गए छात्र की जानकारी पर चंडीगढ़ व श्रीनगर से उसके तीन मददगार भी गिरफ्तार किए गए हैं।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक बडगाम पुलिस और भारतीय सेना ने लश्कर ए तैयबा और तहरीक उल मुजाहिदीन के दो मददगारों को गिरफ्तार किया है और उनके पास से आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई है। 

जम्मू रेंज के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने बताया कि पुलवामा हमले की बरसी पर हमले की खुफिया सूचना थी। सुरक्षा बल इसके लिए सतर्क थे। शनिवार रात पुलवामा के नेवा गांव निवासी सोहेल बशीर शाह को सात किलो आईईडी के साथ बीसी रोड इलाके से एसओजी ने पकड़ा। पूछताछ में उसने बताया कि वह चंडीगढ़ में नर्सिंग की पढ़ाई कर रहा है।

अल-बद्र की ओर से जम्मू में आईईडी प्लांट करने का टास्क सौंपा गया था। उसे जम्मू बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, रघुनाथ मंदिर व लखदाता बाजार में से किसी एक पर आईईडी लगाने को कहा गया था। इसलिए वह चंडीगढ़ से जम्मू गया था। आईजी के अनुसार, सोहेल को यहां आईईडी प्लांट करने के बाद विमान से श्रीनगर जाना था। पुलिस ने बताया कि हमले के लिए पाकिस्तान में बैठे हैंडलर की ओर से इन आरोपियों को पैसे दिए गए थे। इनके बैंक अकाउंट की छानबीन की जा रही है।

छात्र के अलावा ये हैं गिरफ्तार आतंकी
आईजी ने बताया कि सोहेल के बताने पर चंडीगढ़ से काजी वसीम उर्फ काजी को उठाया गया। उसे भी इसकी जानकारी थी। इसके साथ ही बडगाम के आबिद नबी उर्फ सेहरान को गिरफ्तार किया गया। अल बद्र के ओवर ग्राउंड वर्कर नेवा पुलवामा निवासी अथर शकील खान उर्फ उबैद उल्लाह को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। 

हैंडलर के लगातार संपर्क में था
आईजी ने बताया कि सोहेल लगातार पाकिस्तानी हैंडलर के संपर्क में था। वह व्हाट्सएप और दो अन्य संदिग्ध एप के जरिये संपर्क में था। फोन कॉल और व्हाट्सएप मैसेज की जांच की जा रही है। आईजी ने कहा कि एक अन्य अभियान में सांबा जिले से छह पिस्टल और 15 छोटे आईईडी भी जब्त किए गए हैं।

दो साल पहले पुलवामा में शहीद हुए थे 40 जवान
गौरतलब है कि दो साल पहले आज (14 फरवरी) ही के दिन पुलवामा में पाकिस्तान प्रायोजित जैश-ए-मोहम्मद ने सीआरपीएफ के 70 वाहनों के काफिले को आरडीएक्स भरी कार से टकरा दिया था। उस आतंकी वारदात में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

Related posts