प्रदर्शनकारियों को न रोक पाने पर 18 पुलिसकर्मी निलंबित

प्रदर्शनकारियों को न रोक पाने पर 18 पुलिसकर्मी निलंबित

यमुनानगर (हरियाणा)
हरियाणा के यमुनानगर में शिक्षामंत्री कंवरपाल गुर्जर के आवास पर बर्खास्त पीटीआई और ड्राइंग शिक्षकों के प्रदर्शन को न रोक पाने पर बड़ी कार्रवाई की गई है। जिला पुलिस अधीक्षक ने गुरुवार को लापरवाही बरतने पर 18 पुलिसकर्मियों को निलंबित और तीन एसपीओ (स्पेशल पुलिस ऑफिसर) को बर्खास्त कर दिया। इसके अलावा 16 होमगार्डों को उनके विभाग में वापस भेजकर कार्रवाई की संस्तुति की गई है। प्रदर्शन करने वाले 250 शिक्षकों के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है।

नियुक्ति की मांग को लेकर लंबे समय से आंदोलनरत बर्खास्त पीटीआई और ड्राइंग शिक्षकों ने शिक्षामंत्री के गृह जिला यमुनानगर में डेरा डाल रखा है। अनदेखी से नाराज शिक्षकों का एक समूह 11 जनवरी की सुबह बिना नोटिस के शिक्षामंत्री आवास के समीप पहुंच गए थे, जिसकी भनक पुलिस-प्रशासन को नहीं लगी थी। मामले में लापरवाही सामने आने के बाद कुल 37 पर कार्रवाई की गई।

जिसमें 18 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया। वहीं, ड्यूटीरत तीन एसपीओ बर्खास्त कर दिया गया और 16 होमगार्डों के खिलाफ भी कार्रवाई की सिफारिश की गई है। निलंबित होने वालों में महिला समेत पांच एसआई, तीन एएसआई, पांच मुख्य सिपाही और पांच महिला कांस्टेबल शामिल हैं। इसके अलावा दूसरी ओर महामारी अलर्ट सुरक्षित हरियाणा के नियमों की अवहेलना करने पर 250 प्रदर्शनकारी शिक्षकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया।
कई जिलों के प्रदर्शनकारी थे शामिल
पुलिस के मुताबिक 11 जनवरी को सुबह करीब 6.30 बजे हरियाणा शारीरिक शिक्षक संघर्ष समिति के स्टेट प्रधान चरखी दादरी निवासी धर्मेंद्र सिंह सहित करीब 250 महिला और पुरुष अध्यापक एकत्रित होकर शिक्षामंत्री आवास के समीप पहुंच गए थे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने महामारी अलर्ट सुरक्षित हरियाणा के नियमों की अवहेलना की। शिक्षकों ने मास्क और सामाजिक दूरी का भी ध्यान नहीं रखा। आरोप है कि पुलिसकर्मियों के समझाने पर प्रदर्शनकारियों ने धक्का मुक्की भी की थी।
शिक्षामंत्री के निवास स्थान की सुरक्षा प्रबंधों की समीक्षा करने पर कुल 37 कर्मचारियों की लापरवाही सामने आई है। इनके खिलाफ नियमानुसार विभागीय कार्रवाई की गई है। 18 पुलिस कर्मचारियों को निलंबित करके उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। तीन स्पेशल पुलिस ऑफिसर को बर्खास्त किया गया है। इसके अतिरिक्त 16 होम गार्ड के जवानों को उनके विभाग में वापस भेजकर कार्रवाई के लिए पत्र लिखा गया है। – कमलदीप गोयल, पुलिस अधीक्षक, यमुनानगर

Related posts