पुलिस जांच में सनसनीखेज खुलासा, एक इनकार बना हत्याकांड का कारण

पुलिस जांच में सनसनीखेज खुलासा, एक इनकार बना हत्याकांड का कारण

रोहतक (हरियाणा)

रोहतक के विजय नगर में हुए सनसनीखेज चौहरे हत्याकांड से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है। पुलिसिया पूछताछ में खुलासा हुआ है कि मृतक के बेटे अभिषेक ने ही माता-पिता, बहन व नानी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिसिया खुलासे से हर कोई हैरत में है। लोगों को यकीन कर पाना मुश्किल हो रहा है। 

शुक्रवार को प्रॉपर्टी डीलर बबलू पहलवान, उसकी पत्नी बबली, बेटी नेहा और बबली की मां रोशनी को गोली मार दी गई थी। बबलू, बबली और रोशनी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था। जघन्य हत्याकांड की एकमात्र चश्मदीद गवाह नेहा ने 40 घंटे बाद रविवार सुबह पीजीआई में आखिरी सांस ली थी। पुलिस ने दंपती के इकलौते बेटे को इस हत्याकांड के लिए गिरफ्तार किया था। हत्याकांड के बाद पुलिस योजना के तहत जांच आगे बढ़ा रही थी। सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने तीन लोगों को शक के दायरे में लिया है। हाथ डालने से पहले सबूत जुटाए गए। सोमवार की रात को अभिषेक से पूछताछ की गई। उसने कभी कन्हेली के एक युवक का नाम लिया तो कभी गांधी कैंप के एक कबाड़ी की तरफ इशारा किया। यहां तक परिवार के एक सदस्य की तरफ भी जांच घुमाई।

सीसीटीवी फुटेज भी बनी अहम साक्ष्य
इसी बीच गली से पुलिस को सीसीटीवी फुटेज मिली, जिससे बाहर से कोई व्यक्ति आता या जाता दिखाई नहीं दिया। इसके अलावा पता चला कि अभिषेक अपने दोस्त के साथ होटल गया तो वे होटल से एक ढाबे पर खाना खाने चले गए। वहां पता चला कि अभिषेक ने खाना ही नहीं खाया, जबकि उसके दोस्त ने अच्छी तरह से भोजन किया। सारे साक्ष्य एकत्रित होने के बाद पुलिस ने नए सिरे से अभिषेक से पूछताछ की। पूरी रात न सोने के कारण अभिषेक को लटके आने लगे थे। जैसे ही पुलिस अधिकारियों ने पूछताछ शुरू की, वह टूट गया।

बबलू ने बेटे को दिला रखी थी होंडा सिटी कार और एप्पल फोन
पुलिस के अनुसार, अभिषेक बहन के नाम प्रॉपर्टी करवाने से नाराज था। वहीं लोगों के अनुसार बबलू ने अपने बेटे को होंडा सिटी कार व सवा लाख का एप्पल का फोन तक दे रखा था। जबकि खुद स्कूटी पर चलता था। पुलिस को पता चला है कि अभिषेक कई दिन से अपने पिता से साढ़े 3 लाख रुपये निजी कार्य के लिए मांग रहा था। जब पिता ने कारण पूछा तो उसने जवाब नहीं दिया। पिता ने छानबीन कर पैसे देने से इनकार कर दिया। साथ ही माता-पिता के अलावा बहन व नानी ने भी समझाया। आरोपी नहीं माना और उसने वारदात को अंजाम दे दिया।

कई लोगों के लिए नाम
सूत्र बताते हैं कि अभिषेक ने खुद के साथ एक करीबी व्यक्ति की ओर इशारा किया। पुलिस ने तत्काल उस व्यक्ति को पूछताछ के लिए सीआईए में बुलाया। आमने-सामने पूछताछ की गई, लेकिन जिस व्यक्ति का नाम लिया था, उसकी मिलीभगत सामने नहीं आई। क्योंकि अभिषेक पहले दो अन्य लोगों के नाम ले चुका था।

माता पिता की तेरहवीं के दिन लगी हथकड़ी
शुक्रवार को प्रॉपर्टी डीलर के घर हत्याएं की गई। छठे दिन बबलू, पत्नी बबली व बेटी नेहा की परिजनों ने तेरहवीं की। जहां बेटे को तेरहवीं के दिन जिम्मेदारी लेनी थी, उसी दिन अभिषेक को हथकड़ी लग गई। पुलिस ने माता-पिता, बहन व नानी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

Related posts