पहली से चौथी कक्षा के लिए अप्रैल में भी स्कूल खुलने के आसार कम

पहली से चौथी कक्षा के लिए अप्रैल में भी स्कूल खुलने के आसार कम

शिमला
पहली से चौथी कक्षा के विद्यार्थियों के लिए अप्रैल से स्कूल खुलने के आसार कम हैं। हिमाचल प्रदेश सहित पड़ोसी राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने से विभागीय अधिकारियों की चिंता बढ़ गई है। बीस मार्च के बाद स्कूल खोलने या ऑनलाइन ही पढ़ाई जारी रखने को लेकर विचार होगा। फिलहाल विभागीय अधिकारियों का अभी पूरा ध्यान वार्षिक परीक्षाओं पर है। मार्च में पहली से चौथी कक्षा के विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षाएं ऑनलाइन माध्यम से ही होंगी।

व्हाट्सएप के माध्यम से विद्यार्थियों को प्रश्नपत्र भेजे जाएंगे। 31 मार्च से पहले इन कक्षाओं के विद्यार्थियों के नतीजे निकाले जाएंगे। एक अप्रैल से नया शैक्षणिक सत्र शुरू करने की योजना है। हिमाचल में अभी पांचवीं से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोले गए हैं। सरकारी स्कूलों के साथ-साथ निजी स्कूलों ने भी एक मार्च से पांचवीं से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों को स्कूलों में बुलाने का फैसला लिया है। विद्यार्थियों की अधिक संख्या को देखते हुए राजधानी शिमला के कई निजी स्कूलों ने एक दिन छोड़कर और सुबह और शाम की शिफ्ट में विद्यार्थियों को बुलाने की योजना बनाई है।

पहली से चौथी कक्षा के विद्यार्थियों को लेकर अभी सरकारी और निजी स्कूलों ने कोई फैसला नहीं लिया है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 31 मार्च तक सरकार ने पहली से चौथी कक्षा के विद्यार्थियों को स्कूलों में नहीं बुलाने का फैसला लिया है। एक अप्रैल से क्या व्यवस्था रहेगी। इसको लेकर बीस मार्च के बाद फैसला लिया जाएगा। बीस मार्च को विधानसभा का बजट सत्र समाप्त हो जाएगा। इसके बाद कोरोना संक्रमण की  स्थिति को देखते हुए सरकार फैसला लेगा। विभागीय अधिकारियों के अनुसार अप्रैल में भी छोटे बच्चों को स्कूलों में नहीं बुलाने के आसार हैं। हालात पूरी तरह ठीक होने तक इन विद्यार्थियों की ऑनलाइन पढ़ाई ही जारी रखी जाएगी। बहरहाल, बीस मार्च के बाद ही इस मामले को लेकर स्थिति स्पष्ट होगी।

Related posts