निरीक्षण करने हिमाचल आई थी आरोपी शिक्षिका, पूछताछ में खुलासा

निरीक्षण करने हिमाचल आई थी आरोपी शिक्षिका, पूछताछ में खुलासा

धर्मशाला
राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो धर्मशाला ने शनिवार को इंदौरा से एक शिक्षिका को शिक्षण संस्थानों की अच्छी छवि दिखाने के लिए दो लाख रुपये की रिश्वत के साथ रंगेहाथ पकड़ा था। दो अन्य लोगों को गगल से 11.48 रुपयों के साथ हिरासत में लिया था।

कॉलेजों की अच्छी छवि दिखाने की एवज में रिश्वत के आरोप में पकड़ी गई शिक्षिका एक माह पहले भी हिमाचल प्रदेश आई थी। इस दौरान भी उसने कई शिक्षण संस्थानों का निरीक्षण किया था। यह खुलासा रिमांड पर चल रही शिक्षिका ने विजिलेंस के समक्ष किया है। जानकारी के अनुसार राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो धर्मशाला ने शनिवार को इंदौरा से एक शिक्षिका को शिक्षण संस्थानों की अच्छी छवि दिखाने के लिए दो लाख रुपये की रिश्वत के साथ रंगेहाथ पकड़ा था। दो अन्य लोगों को गगल से 11.48 रुपयों के साथ हिरासत में लिया था। ये 18 जनवरी तक रिमांड पर हैं। रिमांड पर चल रहे शिक्षकों ने कई राज उगले हैं।

सूत्रों की मानें तो दो लाख रुपये की रिश्वत के साथ रंगेहाथ पकड़ी गई शिक्षिका करीब एक माह पहले भी हिमाचल के कई शिक्षण संस्थानों के निरीक्षण पर आई थी। इस दौरान शिक्षिका ने हमीरपुर और जिला मंडी के कुछ शिक्षण संस्थानों का निरीक्षण किया था। शिक्षिका कितने पैसे इन जिलों के शिक्षण संस्थानों से बटोरकर ले गई है, उसके बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है। उधर, एसपी विजिलेंस धर्मशाला बलबीर सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए एनसीटीई टीम के सदस्यों को 18 जनवरी तक पुलिस रिमांड मिली है। आरोपियों को मंगलवार को दोबारा से कोर्ट में पेश किया जाएगा। आरोपितों से पूछताछ जारी है।

Related posts