नालागढ़ में तैयार होगी खोखा मार्केट

नालागढ़ (सोलन)। नगर निकाय क्षेत्र में स्थापित रेहड़ी फड़ी धारकों के लिए वेंडिंग (फेरीवाला) और नॉन वेंडिंग जोन के तहत खोखा मार्केट तैयार होगी। रेहड़ी फड़ी धारकों की रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और इस विशेष अभियान को सफल बनाने के लिए परिषद एक विशेष बैठक आमंत्रित करेगी और टाऊन वेंडिंग कमेटियां गठित करके स्थानों का चयन करेगी। टाऊन वेंडिंग कमेटी में शहर के पदाधिकारियों के अलावा एनजीओ, समाजसेवी व कमेटी सदस्यों सहित 9 सदस्यीय कमेटी का गठन होगा। यह कमेटियां जोन बनाने में सहायता करेगी और संडे मार्केट व विशेष सब्जी मार्केट के लिए स्थान तलाशने सहित दिन निश्चित करने पर अपना सुझाव देगी। बाद में इनके लिए खोखा मार्केट बनेगी। इनके लिए सरकार ने नेशनल स्ट्रीट वेंडर पालिसी-2009 बनाई है, जिसके अंतर्गत गलियों में लगी रेहड़ी फड़ियों वालों के पास स्थान के अभाव में अपनी दुकानें नहीं हैं। इस नीति के तहत इनके लिए खोखा मार्केट बनेगी, वहीं इन्हें स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत लाया गया है।

खोखा मार्केट में मुहैया होंगी सभी सुविधाएं
रेहड़ी फड़ी धारकों को तीन वर्गों में बांटा गया है, जिसमें मूविंग (एक स्थान से दूसरे स्थान), स्टेबल (एक जगह पर खड़ी रहने वाली) और घूमंतू शामिल हैं। इनके लिए बनने वाली खोखा मार्केट शिमला और सोलन की तर्ज पर तिब्बती मार्केट जैसी होगी, जिसमें सभी मूलभूत सुविधाएं मुहैया होगी। इसमें क्रेच, शैक्षणिक संस्थान, शौचालय, स्नानागार और स्ट्रीट लाइटें आदि सुविधाएं शामिल होगी। कार्यकारी अधिकारी नालागढ़ सुधीर शर्मा ने कहा कि इस पर वर्क प्लान तैयार किया जा रहा है, जिसे शीघ्र ही क्रियान्वित करने के लिए परिषद की एक विशेष बैठक बुलाई जाएगी, जिसमें वेंडिंग और नान वेंडिंग जोन के लिए स्थल तलाशे जाएंगे।

कारगर ढंग से क्रियान्वित होगी योजना
शहरी विकास विभाग की निदेशक डा. पूर्णिमा चौहान ने कहा कि इस योजना को सही ढंग से क्रियान्वित किया जाएगा और वेंडिंग जोन बनाए जा रहे हैं। सरकार की यह नीति इतनी कारगर है कि इसमें रेहड़ी-फड़ी धारकों को स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत लाया है, जिससे पूरे परिवार को लाभ मिलेगा।

Related posts