नादौन नगर पंचायत में नहीं मिल रहे सचिव

नादौन (हमीरपुर)। नगर पंचायत नादौन में नियमित तौर पर सचिव की तैनाती होने के बावजूद लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। शहर के लोगों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री से समस्या का समाधान करने की मांग की है।
प्रदेश सरकार ने लगभग एक साल पहले नगर पंचायत नादौन में सचिव के पद पर तैनाती करके मैहतपुर नगर पंचायत के सचिव का कार्यभार भार नादौन के सचिव पीसी बत्रा को सौंपा था। सचिव ने कार्यभार संभालने के बाद नगर पंचायत नादौन का काम मैहतपुर नपं में बैठकर ही संचालित करना शुरू कर दिया है। इससे शहर के लोगों की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं।
लोगों में रमेश, वेद, पूर्ण, राजेश, प्यार चंद, राकेश, राजकुमार आदि स्थानीय वासियों का कहना है कि यदि सरकार ने नादौन नगर पंचायत का कार्यभार किसी दूसरी नगर पंचायत के सचिव के पास देना था तो किसी नजदीकी पंचायत के सचिव को दिया जाता। ऐसे में लोगों ने सरकार की कार्यप्रणाली पर प्रशभनचिन्ह खड़ा कर दिया है। लोगों का कहना है मैहतपुर नादौन से 80 किलोमीटर दूर है। ऐसे में नादौन नगर पंचायत कार्यालय में सचिव के न बैठने से लोगों को जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र, डुप्लीकेट राशन कार्ड तथा भवन निर्माण के नक्शे आदि स्वीकृत करवाने के लिए मुश्किलें झेलनी पड़ रही हैं।
जो लोग बाहरी राज्यों में नौकरी करते हैं और नादौन में अपने बच्चों के जन्म प्रमाण पत्र लेने पहुंचते हैं वह तो नगर पंचायत कार्यालय के चक्कर काट काट कर थक चुके हैं। नादौन के लोगों के अन्य तरह के प्रशासकीय कार्य भी काफी समय से लंबित पड़े हुए हैं। ऐसे में लोगों में पूर्व सरकार के प्रति मलाल है कि जब प्रदेश सरकार ने नादौन में नियमित सचिव की तैनाती कर रखी है तो मैहतपुर में बैठकर मौजूदा सचिव इसका प्रशासन क्यों चला रहे हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से मांग की है कि समस्या का शीघ्र समाधान किया जाए। नगर पंचायत सचिव पीसी बत्रा ने माना कि विभिन्न अपरिहार्य कारणों के कारण ऐसा करना पड़ रहा है और शीघ्र ही समस्या का हल कर लिया जाएगा।

Related posts