धाम में शिरकत कर मंत्री ने किया आचार सहिंता का उल्लंघन, चुनाव आयोग ने थमाया नोटिस

धाम में शिरकत कर मंत्री ने किया आचार सहिंता का उल्लंघन, चुनाव आयोग ने थमाया नोटिस

शिमला

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए लगी आचार संहिता के बीच महिला भाजपा नेता की ओर से शुक्रवार को जुन्गा में धाम का आयोजन किया गया। भाजपा नेता विजय ज्योति सेन की ओर से रखी गई धाम में कसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी एवं मंत्री सुरेश भारद्वाज भी पहुंचे। पार्टी कार्यकर्ताओं का आभार जताने के बहाने करवाए गए आयोजन में पूर्व सांसद वीरेंद्र कश्यप, पूर्व मंत्री रूप दास कश्यप समेत सैकड़ों कार्यकर्ता और स्थानीय लोग भी शामिल हुए। भारद्वाज ने कहा कि चुनावी थकान उतारने के लिए राजमाता विजय ज्योति सेन की ओर से इस विशेष धाम का आयोजन किया गया है। चुनाव के दौरान कसुम्पटी भाजपा कार्यकर्ताओं ने दिन-रात काम किया है। इसके लिए भारद्वाज ने कार्यकर्ताओं का आभार जताया। इस दौरान चुनावी नतीजों को लेकर भी मंथन हुआ।

निर्वाचन आयोग के मुताबिक, आचार संहिता के बीच इस तरह के आयोजन नहीं करवाए जा सकते। सूचना मिलते ही जिला निर्वाचन आयोग भी हरकत में आया और प्रत्याशी सुरेश भारद्वाज को नोटिस जारी कर दिया। उनसे 24 घंटे के भीतर जवाब मांगा गया है। नियमों का उल्लंघन होने पर ऐसे आयोजनों का पूरा खर्च प्रत्याशी के चुनावी खर्च में जोड़ा जाता है। इसके अलावा अन्य क्या कार्रवाई हो सकती है, इस पर जिला निर्वाचन आयोग जवाब आने के बाद फैसला लेगा।

यह मेरा आयोजन नहीं था : भारद्वाज
इस धाम से मेरा कोई लेना-देना नहीं है। यह मेरा आयोजन नहीं था। मुझे इसका न्योता मिला था, जिसके बाद इसमें शामिल हुआ। जिला निर्वाचन आयोग से नोटिस आने पर उसका जवाब भी दे दिया जाएगा।
– सुरेश भारद्वाज, भाजपा प्रत्याशी एवं शहरी विकास मंत्री

कसुम्पटी में इस बार है कांटे की टक्कर
राजधानी की कसुम्पटी विधानसभा सीट पर पिछले 20 साल से कांग्रेस का कब्जा है। कांग्रेस प्रत्याशी अनिरुद्ध सिंह लगातार दो जीत के बाद तीसरी बार चुनाव मैदान में हैं। उनके सामने भाजपा ने शहरी विकास मंत्री एवं लगातार तीन बार शिमला शहर से चुनाव जीत चुके सुरेश भारद्वाज को मैदान में उतारा है। ऐसे में यहां कांटे की टक्कर है। इस क्षेत्र में कुल 66,824 मतदाताओं में से इस बार 45,634 मतदाताओं ने वोट डाला है। बीते चुनाव से करीब एक फीसदी ज्यादा मतदान इस सीट पर हुआ है। ऐसे में यहां के चुनावी नतीजे पर सबकी नजर है।

Related posts