ड्राइविंग स्कूल संचालक पर विजिलेंस ने दर्ज किया केस, सात हजार रुपये में बिना ट्रेनिंग दिए जारी करता था एचटीवी प्रमाण-पत्र

ड्राइविंग स्कूल संचालक पर विजिलेंस ने दर्ज किया केस, सात हजार रुपये में बिना ट्रेनिंग दिए जारी करता था एचटीवी प्रमाण-पत्र

सोलन। दाड़लाघाट में छह माह पूर्व रिश्वत मामले में गिरफ्तार एमवीआई से विजिलेंस की पूछताछ जारी है। इसी कड़ी में विजिलेंस ने नया खुलासा किया है। इसमें ड्राइविंग स्कूल चला रहे रामपुर के संचालक पर मामला दर्ज किया गया है। यह संचालक बिना ट्रेनिंग दिए ही प्रदेश में छह से सात हजार रुपये में एचटीवी के प्रमाण-पत्र दलालों के जरिए बांट रहा था।

विजिलेंस ने अर्की क्षेत्र से रामपुर के ड्राइविंग स्कूल के प्रमाण-पत्र पर जारी 87 लाइसेंस भी बरामद किए हैं। इसमें जल्द ही ड्राइविंग स्कूल के संचालक जगदीश कुमार निवासी रामपुर को गिरफ्तार किया जाएगा। पूछताछ में मामले में बड़े खुलासे होने की भी उम्मीद है।

विजिलेंस के अनुसार ड्राइविंग स्कूल संचालक बिना ट्रेनिंग दिए ही बड़े वाहनों को चलाने के फर्जी प्रमाण पत्र जारी कर रहा था। एमवीआई से पूछताछ के बाद टीम इसकी जांच कर रही थी। इसके बाद जांच में पाया कि रामपुर में चल रहे स्कूल में कोई ट्रेनर ही नहीं है, जिस ट्रेनर के नाम से ट्रेनिंग दी जा रही थी, वह भी फर्जी निकला। इसके बाद विजिलेंस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
उधर, एसपी विजिलेंस अंजुम आरा ने मामले की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि रामपुर में न्यू अंजली ड्राइविंग स्कूल रामपुर और न्यू राम शिला नाम से चल रहे हैं। यह स्कूल बिना ट्रेनिंग दिए छह से सात हजार रुपये में एचटीवी लाइसेंस के प्रमाण-पत्र जारी कर रहे थे। इनके संचालक के खिलाफ मामला दर्ज लिया है। मामले की जांच की जा रही है।
क्या है पूरा मामला
छह माह पूर्व प्रदेश विजिलेंस सोलन और एसआईयू की शिमला टीम ने संयुक्त ऑपरेशन के दौरान दाड़लाघाट स्थित एक निजी होटल में एमवीआई समीर दत्ता को 5 लाख 68 हजार 500 रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया था। रिश्वत देने के आरोप में विजलेंस ने दलाल दिनेश ठाकुर को भी गिरफ्तार किया है। प्रारंभिक जांच में पाया गया है कि दलाल दिनेश ठाकुर ट्रक ऑपरेटर्स से पासिंग के लिए पैसे एकत्रित करके एमवीआई को देता था। इसके बाद विजिलेंस ने दोनों को गिरफ्तार कर जांच शुरू की थी। वहीं, अब इस जांच में ड्राइविंग स्कूल की ओर से जारी फर्जी प्रमाण का भी खुलासा हुआ है।

Related posts