डेंटिस्ट बनने में युवा नहीं दिखा रहे रूचि आधे से ज्यादा सीटे रह गई खाली

डेंटिस्ट बनने में युवा नहीं दिखा रहे रूचि आधे से ज्यादा सीटे रह गई खाली

मंडी
प्रदेश के चार डेंटल कॉलेजों में आधे से अधिक बीडीएस की सीटों पर अभ्यर्थियों ने रुचि नहीं दिखाई है। आधी सीटें अभी तक खाली हैं। दूसरे राउंड के लिए अभ्यर्थियों को अलॉटमेंट लेटर दिए गए हैं।

प्रदेश के युवाओं का डेंटिस्ट बनने में रुझान कम हो गया है। प्रदेश के सरकारी और निजी डेंटल कॉलेजों में डेंटल की आधे से भी अधिक सीटें खाली रही हैं। एमबीबीएस की एक सीट खाली नहीं बची है। अटल मेडिकल यूनिवर्सिटी की दूसरे राउंड की काउंसलिंग के बाद भी प्रदेश के चार डेंटल कॉलेजों में इन सीटों पर दाखिला लेने के लिए युवा रुचि नहीं दिखा रहे हैं।

डेंटल कॉलेज पांवटा साहिब में 81, भोजिया डेंटल कॉलेज एंड अस्पताल नालागढ़ में 49, हिमाचल डेंटल कॉलेज सुंदरनगर में 45 और राजकीय डेंटल कॉलेज एंड अस्पताल शिमला में 25 सीटें खाली हैं। हालांकि, दूसरे राउंड की प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गई है। इनमें सीटें भरने की उम्मीद है।

उधर, अटल मेडिकल यूनिवर्सिटी नेरचौक से मिली जानकारी के अनुसार इस बार प्रदेश के चार डेंटल कॉलेजों में आधे से अधिक बीडीएस की सीटों पर अभ्यर्थियों ने रुचि नहीं दिखाई है। आधी सीटें अभी तक खाली हैं। दूसरे राउंड के लिए अभ्यर्थियों को अलॉटमेंट लेटर दिए गए हैं।

अब 8 मार्च को दूसरे दौर के दाखिले होंगे। ये 11 मार्च तक चलेंगे। परीक्षा नियंत्रक डॉ. प्रवीण ने बताया कि दूसरे राउंड में बीडीएस की कितनी सीटें भरी जाएंगी, यह 11 मार्च के बाद पता चलेगा।

Related posts