जेल भरो आंदोलन की चेतावनी

धर्मशाला। पतंजलि योग समिति ने प्रदेश सरकार को जेल भरो आंदोलन की चेतावनी दे डाली है। समिति ने कहा कि अगर सोलन के साधृू पुल में पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट को दी गई जमीन की लीज डीड में कोई कमी है तो सरकार इस कमी को दूर करने के लिए ट्रस्ट को निर्देश जारी करे। लेकिन लीज डीड को कैंसल करना कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
हिप्र पतंजलि योग समिति जिला कांगड़ा के प्रवक्ता राजेंद्र सिंह, अमर सिंह डोगरा, युवा प्रभारी राजिंद्र सिंह, किसान पंचायत के प्रभारी सरवण कुमार, भारत स्वाभिमान के जिला प्रभारी डा. रमेश चंद तथा महिला पतंजलि योग समिति से कामुदी भारद्वाज ने शुक्रवार को धर्मशाला में जारी संयुक्त बयान में कहा कि 27 फरवरी को जिला कांगड़ा के समस्त कार्यकर्ता सोलन के साधू पुल में पतंजलि योगपीठ के मुख्यालय में जाएंगे। उन्होंने कहा कि अगर इस दौरान सरकार और जिला प्रशासन ने कोई व्यवधान डालने की कोशिश की तो जेल भरो आंदोलन का आगाज होगा। इसकी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार और प्रशासन की होगी। समिति ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और स्वास्थ्य मंत्री ठाकुर कौल सिंह से लीज कैंसल के फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि समिति का एकमात्र उद्देश्य समाज में नशाखोरी, भ्रष्टाचार तथा प्रदूषण को दूर करना है। सोलन की जमीन पर योगगुरु कोई आय का स्रोत नहीं, बल्कि जीने की कला, निरोग रहना तथा जड़ी-बूटी का संग्रह करके लोगों को रोजगार उपलब्ध करवाना चाह रहे हैं।

Related posts