जल्द समायोजित होंगे कंप्यूटर शिक्षक : भारती

जवाली (कांगड़ा)। प्रदेश भर के स्कूलों में कंप्यूटर शिक्षकों को एक ठोस नीति के तहत शिक्षा विभाग में समायोजित किया जाएगा, ताकि कंप्यूटर शिक्षकों को सरकारी अध्यापकों के समान मान-सम्मान और वेतन मिल सके। यह बात मुख्य संसदीय सचिव नीरज भारती ने राजकीय उच्च पाठशाला ताहलियां में आयोजित वार्षिक समारोह में कही। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थानों में छठी से लेकर 12वीं कक्षा तक कंप्यूटर शिक्षा को अनिवार्य करने का मामला सरकार के समक्ष रखा जाएगा। नीरज भारती ने खुले मंच से कंप्यूटर शिक्षकों के नियमितीकरण के लिए 31 मार्च से पहले ठोस नीति बनाने का ऐलान किया। नीरज भारती ने कहा कि प्रदेश के स्कूलों में स्टाफ की कमी को दूर किया जाएगा । उन्होंने स्कूल के अध्यापकों से आग्रह किया कि वे अच्छी शिक्षा बच्चों को दें, ताकि वे वार्षिक परीक्षाओं में अच्छे अंक लेकर उतीर्ण हो सकें। नीरज भारती ने स्कूल की पुरानी इमारत को गिरवा कर नई इमारत अतिशीघ्र बनवाने का आश्वासन दिया। उन्होंने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले बच्चों को स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। स्कूल की तरफ से नीरज भारती को शाल तथा टोपी पहनाकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर एसडीएम जवाली डा. सुरेश जसवाल, मंडलाध्यक्ष रण सिंह, पूर्व मंडलाध्यक्ष अमर सिंह, प्रवक्ता अरुण शर्मा, प्रेस सचिव संसार सिंह संसारी, महासचिव बशीर मोहम्मद, इंटक जिला उपाध्यक्ष राजेश्वर हैप्पी, पूर्व प्रधान तिलक रपोत्रा, रशपाल सिंह, ढन पंचायत प्रधान रूपा देवी, मिंटू, कर्ण सिंह, सुनीता देवी सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे।
बाक्स
फरलूबाज शिक्षकों पर कसेगा शिकंजा
नगरोटा सूरियां (कांगड़ा)। मुख्य संसदीय सचिव नीरज भारती ने कहा कि सरकार की विभिन्न छात्रवृत्ति योजनाओं के बावजूद सरकारी स्कूलों में घटती छात्र संख्या चिंता का विषय है। इस पर शिक्षकों को चिंतन करना होगा। उन्होंने चेताया कि फरलूबाज और देरी से आने वाले शिक्षकों को बख्शा नहीं जाएगा। राजकीय उच्च विद्यालय ताहलियां में वार्षिक समारोह में उपस्थित अभिभावकों, छात्रों और जनसमूह को संबोधित करते हुए स्कूल में तीन कमरों का निर्माण, रिटेनिग दीवार लगाने के लिए उपयुक्त धनराशि उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया।

Related posts