चरस रखने पर सवा सात की जेल

हमीरपुर। हिरोइन और चरस सहित रंगे हाथों धरे आरोपी को अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय ने सवा सात साल का कारावास और 55 हजार जुर्माना की सजा सुनाई है। आरोपी को सोमवार को अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय में पेश किया गया, जहां न्यायाधीश भूपेश शर्मा ने मादक द्रव्य अधिनियम के तहत आरोपी को सजा सुनाई है।
उप पुलिस अधीक्षक राज्य एवं सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो बलवीर सिंह ने बताया कि 3 मई 2012 को विजिलेंस हमीरपुर की टीम गश्त पर थी तो शुक्कर खड्ड में किशोरी लाल निवासी खठवीं को संदिग्ध अवस्था में देखा। पुलिस को देखकर किशोरी लाल घबरा गया और फरार होने की कोशिश करने लगा। इससे पहले विजिलेंस की टीम ने उसे दबोच लिया और उसकी तलाशी ली। इस दौरान विजिलेंस टीम ने किशोरी लाल पुत्र परस राम निवासी खठवीं तहसील एवं जिला हमीरपुर से मौके पर 50 ग्राम हिरोइन बरामद की। इसके बाद पुलिस टीम ने उप निरीक्षक राजेंद्र कुमार के नेतृत्व में किशोरी लाल के घर में भी दबिश दी जहां 250 ग्राम हिरोइन और चार ग्राम चरस बरामद की गई।
गौर रहे कि जिला में पहली बार किशोरी लाल से इतनी मात्रा में मादक पदार्थ बरामद किए गए थे। इसके चलते आरोपी को सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया। जहां अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश भूपेश शर्मा ने आरोपी को एनडीपीएस एक्ट के तहत सात साल तीन माह का कारावास और 55 हजार रुपए जुर्माना की सजा सुनाई है। अभियोग की पैरवी के दौरान अभियोजन पक्ष की तरफ से 14 गवाह अदालत में पेश किए गए। अभियोग की पैरवी उप जिला न्यायवादी आत्मा राम, उप जिला न्यायवादी सीएस भाटिया और सहायक जिला न्यायवादी कपिल देव शर्मा ने की है।

Related posts