घमासान: सिद्धू से मुलाकात में हरीश रावत ने नेतृत्व परिवर्तन की मांग की खारिज, आज कैप्टन से मुलाकात

घमासान: सिद्धू से मुलाकात में हरीश रावत ने नेतृत्व परिवर्तन की मांग की खारिज, आज कैप्टन से मुलाकात

चंडीगढ़
पंजाब कांग्रेस में चल रहे घमासान को सुलझाने पार्टी प्रभारी हरीश रावत मंगलवार की शाम चंडीगढ़ पहुंचे। जहां उन्होंने कैबिनेट मंत्री राणा सोढी से मुलाकात के बाद पंजाब कांग्रेस भवन में सिद्धू और अन्य मंत्रियों और विधायकों से मुलाकात की। सिद्धू खेमे के मंत्रियों ने फिर से पंजाब में नेतृत्व बदलाव करने की मांग उठाई। इस पर रावत ने दो टूक में कहा कि यह बदलाव का नहीं, संगठन को मजबूत करने का समय है।

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर नवजोत सिंह सिद्धू की नियुक्ति के बाद लगातार सिद्धू और उनके खेमे के मंत्री विधायक अपनी ही सरकार के खिलाफ बयान दे रहे हैं। हाल ही में सिद्धू खेमे की ओर से पंजाब में नेतृत्व परिवर्तन किए जाने की मांग जोर शोर से की जा रही है। पंजाब कांग्रेस में फिर से शुरू हुए इस घमासान को सुलझाने एक बार फिर पंजाब प्रभारी हरीश रावत मंगलवार को चंडीगढ़ पहुंचे। 

शाम लगभग पांच बजे रावत ने खेल मंत्री राणा सोढी, कार्यकारी प्रधान कुलजीत नागरा और विधायक परगट से मुलाकात की। कुछ देर चर्चा के बाद रावत एक ही गाड़ी में नागरा और परगट के साथ पार्टी के दफ्तर पहुंचे। जहां पहले से मौजूद पार्टी प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू के साथ उन्होंने चर्चा की। पार्टी सूत्रों के अनुसार इस दौरान सिद्धू खेमे की ओर से राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की मांग की गई। हालांकि इस मौके पर सिद्धू कुछ खास नहीं बोले। रावत ने उनकी मांग को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने सभी से कहा कि चुनाव नजदीक है इसलिए संगठन पर मजबूती से काम करना जरूरी है।

संगठन को लेकर हुई सिद्धू से चर्चा
पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने सिद्धू के साथ चर्चा के बाद कहा कि चुनाव नजदीक हैं इसलिए संगठन विस्तार को लेकर चर्चा हुई है। चुनाव में पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए सभी को योग्यता के अनुसार काम सौंपा जाएगा। जल्द ही इसके लिए कमेटियों का भी गठन किया जाएगा। रावत ने बताया कि सिद्धू ने आश्वासन दिया है कि आने वाले 15 दिनों के भीतर संगठन के ढांचे को लेकर काम शुरू हो जाएगा।

आज होगी कैप्टन से मुलाकात
सिद्धू से मुलाकात के बाद पंजाब प्रभारी हरीश रावत बुधवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात करेंगे। रावत ने कहा कि वह मुख्यमंत्री से बुधवार को मुलाकात करेंगे। कैबिनेट बदलाव को लेकर उन्होंने कहा कि अभी इसकी जरूरत नहीं है, हां जब इसकी जरूरत होगी तभी कोई फैसला किया जाएगा।

रावत पर केस करने की मांग
इस बीच शिरोमणि अकाली दल के  दलजीत एस चीमा ने हरीश रावत पर केस दर्ज करने की मांग की है। चीमा ने कहा कि मैं पंजाब सरकार से कांग्रेस के हरीश रावत के खिलाफ पीसीसी प्रमुख और उनकी टीम को “पंज प्यारे” कहकर सिख भावनाओं को आहत करने के लिए मामला दर्ज करने का आग्रह करता हूं। चीमा ने कहा कि उन्हें पता होना चाहिए कि पंज प्यारे का सिख धर्म में महत्व है। उन्हे अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगनी चाहिए। यह मजाक नहीं है।

Related posts