खुले में फेंका जा रहा है बायोमेडिकल वेस्ट

नादौन (हमीरपुर)। उपमंडल में बायोमेडिकल वेस्ट खुले में फेंका जा रहा है। इससे क्षेत्र में संक्रमण फैलने का अंदेशा बना हुआ है। अधिकतर निजी क्लीनिकों और अस्पतालों की बायोमेडिकल वेस्ट खुले में फेंका जा रहा है लेकिन संबंधित विभाग द्वारा उसे रोकने को उद्दंड लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई जा रही है।
स्थानीय लोगों में सुनील कुमार, मोहित कुमार, जयदेव, रमेश चंद, अरुण कुमार, रोहित कुमार आदि का कहना है कि उपमंडल के रंगस, रैल, बड़ा, धनेटा, कलूर, जलाड़ी आदि कस्बों में निजी क्लीनिकों और निजी अस्पतालों को बायोमेडिकल वेस्ट खुले में फेंका जा रहा है। इससे क्षेत्र में संक्रमण फैलने का अंदेशा बना हुआ है। उन्होंने बताया कि बायोमेडिकल वेस्ट में सिरींजें, सूइयां, खून से सनी रूई, टीके आदि के कंटेनर खुले में फेंके जा रहे हैं। कई निजी क्लीनिकों का बायो मेडिकल वेस्ट नपं के कूड़ेदानों में फेंका जा रहा है। कई बार प्रशासन को समस्या से अवगत करवाया जा चुका है लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई है। इसके चलते खुले में बायोमेडिकल वेस्ट फैलने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। लोगों ने स्वास्थ्य विभाग से मांग की है कि खुले में बायोमेडिकल वेस्ट फेंकने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाए।
उधर, बीएमओ नादौन डॉ. अशोक कौशल का कहना है कि बायोमेडिकल वेस्ट को भूमि में दबाने की व्यवस्था न होने पर क्लीनिक या अस्पताल पर कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि जहां से शिकायत मिलेगी उस पर विभाग कड़ी कार्रवाई करेगा।

Related posts