किसानों और बागवानों से खेतों में फल-सब्जियां खरीदेगा अमेजन, एपीएमसी से मिला एनओसी

किसानों और बागवानों से खेतों में फल-सब्जियां खरीदेगा अमेजन, एपीएमसी से मिला एनओसी

शिमला
बहुराष्ट्रीय ई कॉमर्स कंपनी अमेजन जल्द ही शिमला जिले में किसान बागवानों से उनके उत्पाद की सीधी खरीद शुरू करेगी। कृषि उपज विपणन समिति शिमला एवं किन्नौर (एपीएमसी) ने इसके लिए कंपनी को अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी कर दिया है। अब अमेजन ने कृषि विभाग से लाइसेंस लेने और ठियोग के बलग में पहला खरीद केंद्र स्थापित करने की तैयारी शुरू कर दी है। दावा किया जा रहा है कि घर-द्वार फल सब्जियां बिकने से किसान-बागवानों को उपज की अच्छी कीमतें मिलेंगी और मालभाड़े का खर्च बचेगा। 

अमेजन सब्जियों की खरीद के साथ अपना कारोबार शुरू करने की तैयारी में है। पहले चरण में शिमला जिले में आधा दर्जन खरीद केंद्र स्थापित किए जाएंगे। दूसरे चरण में फलों की खरीद शुरू होगी। स्थानीय एजेंटों के माध्यम से सब्जियों और फलों की खरीद कर इन्हें हरियाणा स्थित वेयर हाउस पहुंचाया जाएगा। जहां से देश के विभिन्न महानगरों तक ताजे फलों और सब्जियों की सप्लाई होगी। अमेजन फ्रेश के जरिये ग्राहकों को घर -ार ताजा फलों और सब्जियों की डिलीवरी भी दी जाएगी। महाराष्ट्र के पुणे से अमेजन ने किसानों से उनकी फसल सीधे खरीदने का पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया था जो कामयाब रहा।

प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी, किसानों को होगा फायदा : नरेश
एपीएमसी चेयरमैन नरेश शर्मा ने बताया कि अमेजन को एनओसी दे दिया है। कृषि विभाग से लाइसेंस लेने के बाद कंपनी काम शुरू करेगी। फलों और सब्जियों की खरीद में अमेजन के उतरने से मार्केट में प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी, जिससे किसानों को फायदा होगा। एपीएमसी के प्रयासों से ही बिग बास्केट और रिलायंस को कारोबार के लिए बुलाया जा चुका है।

रिलायंस फ्रैश, बिग बास्केट के पहले ही चल रहे हैं खरीद केंद्र 
बहुराष्ट्रीय कंपनी रिलायंस फ्रेश और बिग बास्केट ने पहले ही सब्जियों और फलों की खरीद के लिए सोलन और शिमला में खरीद केंद्र स्थापित कर रखे हैं। सोलन जिले के कंडाघाट और सलोगड़ा तथा शिमला जिले के नारकंडा, कोटगढ़, थानाधार में खरीद केंद्रों पर कंपनियां फल और सब्जियां खरीद रही हैं।

Related posts