किन्नौर में 16 लोगों को लील गई बर्फबारी

सांगला (किन्नौर)। 17 जनवरी से हो रही भारी बर्फबारी से जहां किन्नौर घाटी में बागवानों के पूरे के पूरे सेब के बाग नष्ट हो गए हैं, वहीं बर्फबारी अब तक 16 लोगों को मौत का ग्रास बना चुकी है। सात लोग विभिन्न हादसों में घायल होकर अस्पताल पहुंच चुके हैं। जबकि, एक व्यक्ति का अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है। यह जानकारी डीसी किन्नौर कै. जेएम पठानिया ने दी है।
सरकारी रिकार्ड के अनुसार जिले में 18 जनवरी को भारी बर्फबारी के चलते रूनंग में तीन लोगों की मौत हो गई थी, जबकि सात लोग घायल हो गए थे। मरने वालों में दो जम्मू के थे, जबकि एक चंबा जिला से संबंध रखता था। इस हादसे में जम्मू के ही पांच लोग भी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। जबकि रामी के पास पैदल जा रहा एक व्यक्ति भी बर्फ में दब कर मर गया। इसके अलावा 29 जनवरी को कटगांव में एक व्यक्ति मौत हो गई। वहीं, 16 जनवरी को हौमते पुल के पास बर्फ की चपेट में आने से व्यक्ति की मौत हो गई है। इसके अलावा 18 जनवरी को किन्नौर के पांगी स्थित खोनटा के पास मकान पर पेड़ गिरने से उसकी चपेट में आकर मां-बेटे की मौत हो चुकी है। 23 जनवरी को शौंग में चट्टानों की चपेट में आने से एक व्यक्ति मारा गया है। वहीं, 12 फ रवरी को समधो के पास तीन नेपाली बर्फ में दब गए थे। इनमें से दो के शव मिले थे, जबकि एक अभी भी लापता है। इस तरह के घाटी में विभिन्न हादसों में सोलह लोगों की जान जा चुकी है। जबकि, सात लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं।
……
…बाक्स…
पूरे के पूरे सेब के बाग हो चुके है नष्ट
17 जनवरी से हो रही बर्फबारी के चलते जहां 16 लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा है। वहीं पर बागवानों को भी लाखाें रूपये की चपत लग चुकी है। प्रशासन की प्रारंभिक जांच के बाद अब तक जिला में हजारों सेब के पौधों को नुकसान पहुंचा है। इस बर्फबारी में करीब 35 लोगों के तो पूरे के पूरे सेब के बाग नष्ट हो चुके है।

Related posts