कांग्रेस पार्टी चुनाव से पहले पंजाब की तर्ज पर तैयार कर रही रणनीति

कांग्रेस पार्टी चुनाव से पहले पंजाब की तर्ज पर तैयार कर रही रणनीति

शिमला
कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी से हुई मंत्रणा के बाद राज्य में भी प्रभावी चेहरे तलाशे जा रहे हैं। सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी के दफ्तर से प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को बैठक के लिए बुलाया गया है।

राज्य में विधानसभा चुनाव से पहले हिमाचल कांग्रेस में भी पंजाब का फार्मूला लागू करने की तैयारी है। मंडी, हमीरपुर और कांगड़ा संसदीय सीट से तीन कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जा सकते हैं। हालांकि, उपचुनाव में अच्छे प्रदर्शन के चलते संगठनात्मक चुनाव तक या उसके बाद भी प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर अध्यक्ष पद पर बने रह सकते हैं। उनके सहयोग के लिए ही ये तीनों कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जा सकते हैं।

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी से हुई मंत्रणा के बाद राज्य में भी प्रभावी चेहरे तलाशे जा रहे हैं। सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी के दफ्तर से प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को बैठक के लिए बुलाया गया है। प्रभारी राजीव शुक्ला के दफ्तर से बाकायदा टेलीफोन भी किए गए कि आठ मार्च को बैठक के लिए दिल्ली पहुंच जाएं। इस बैठक को फिलहाल टालना पड़ा है और अब हफ्ते के भीतर बैठक की अगली तारीख तय होनी है। इस बैठक के पीछे राज्य में कांग्रेस को और मजबूत करने की मंशा है ताकि मिशन रिपीट के लिए डबल इंजन का हौसला लेकर बैठी सत्तासीन भाजपा से भिड़ा जा सके।

वर्तमान प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर शिमला संसदीय क्षेत्र से हैं तो क्षेत्रीय संतुलन के लिए मुख्यमंत्री के गृह संसदीय क्षेत्र मंडी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के गृह संसदीय क्षेत्र मंडी और प्रदेश में सरकार बनाने में अहम भूमिका वाले कांगड़ा संसदीय क्षेत्र से कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जा सकते हैं।

हाईकमान ने बैठक के लिए इन नेताओं को बुलाया
हाईकमान ने पार्टी प्रदेशाध्यक्ष कु लदीप सिंह राठौर, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू, विधायक कर्नल धनीराम शांडिल, आशा कुमारी, रामलाल ठाकुर और सांसद प्रतिभा सिंह को बैठक के लिए बुलाया गया है। इन नेताओं से प्रदेश में तीन कार्यकारी अध्यक्ष लगाने के बारे में मंथन किया जाना है।

Related posts