कांगड़ा भाजपा अध्यक्ष का चुनाव स्थगित

धर्मशाला। कांगड़ा जिला भाजपा के अध्यक्ष पद का चुनाव आपसी खींचतान के कारण लटक गया है। चार मंडलों नगरोटा बगवां, धर्मशाला, शाहपुर और कांगड़ा को मिलाकर बनाए गए भाजपा के संगठनात्मक जिला के अध्यक्ष पद के चुनाव में आपसी एकजुटता का अभाव और पार्टी में बिखराव खुलकर सामने आ गया। तीन घंटे तक माथापच्ची के बाद भाजपा जिलाध्यक्ष पर रिजल्ट शून्य रहा। सर्व सहमति न बनने के चलते चुनाव प्रभारी को चुनाव प्रक्रिया स्थगित करनी पड़ी। वहीं, चुनाव रद करने के पीछे तकनीकी समस्या का तर्क दिया है। गौरतलब है कि वीरवार को लोनिवि के धर्मशाला स्थित विश्रामगृह पर कांगड़ा जिला भाजपा के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होना था। निर्धारित समय के अनुसार विधायक एवं पूर्व सामाजिक न्याय मंत्री सरवीण चौधरी, पूर्व विधायक संजय चौधरी, भाजपा नेता मंगल सिंह चौधरी, हिंदवीर कोहली, धर्मशाला मंडल कैप्टन रमेश अटवाल, महामंत्री सुरेंद्र बिजला, उपाध्यक्ष रजनीश रंजू, पूर्व मंडल अध्यक्ष कृपाल सिंह, कांगड़ा भाजपा मंडल अध्यक्ष रमेश बराड़ जिला सदस्य गुज्जर मल, शाहपुर भाजपा के अध्यक्ष योगराज चड्ढा, जिला सदस्य अश्वनी कुमार, जिला मीडिया प्रभारी राकेश शर्मा और जिला चुनाव प्रभारी राम स्वरूप शर्मा समेत अन्य भाजपा नेता चुनाव स्थल पर उपस्थित हो गए। इसके बाद पूर्व विधायक कांगड़ा संजय चौधरी और उत्तम चौधरी ने जिला अध्यक्ष के पद के लिए नामांकन भरा। इसके बाद उपस्थित भाजपा नेता आपस में जिलाध्यक्ष पर सहमति बनाने पर जुटे रहे, लेकिन दोनों ही धड़ों से उम्मीदवार की ओर से नाम वापस नहीं लेने के बाद चुनाव प्रभारी को चुनाव रद करना पड़ा। इसके बाद चुनाव रद करने के पीछे तकनीकी कारण का तर्क दे दिया गया। भाजपा ने कांगड़ा के टुकड़े कर चार संगठनात्मक जिला बनाए हैं। जिनमें नूरपुर, देहरा और पालमपुर जिला में सर्वसहमति से जिलाध्यक्ष चुन लिए गए, लेकिन चार विधानसभाओं के मंडलों को जोड़कर बनाए कांगड़ा जिलाध्यक्ष के चुनाव लटक गए।
बाक्स
तकनीकी कारणों से स्थगित हुआ चुनाव : शर्मा
भाजपा जिला चुनाव प्रभारी रामस्वरूप शर्मा ने कहा कि वीरवार को जिला भाजपा के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव थे। उन्होंने कहा कि वोटर लिस्ट में तकनीकी कारणों के चलते चुनाव स्थगित करने पड़े हैं। शर्मा ने कहा कि भाजपा राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक के उपरांत दोबारा नए सिरे से चुनाव की तारीख तय की जाएगी।

Related posts