कलह: नवजोत सिद्धू फिर दिल्ली पहुंचे, रावत की कैप्टन को सलाह-नाराज मंत्रियों, विधायकों को मनाएं 

कलह: नवजोत सिद्धू फिर दिल्ली पहुंचे, रावत की कैप्टन को सलाह-नाराज मंत्रियों, विधायकों को मनाएं 

चंडीगढ़
पंजाब कांग्रेस में मचा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा। पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू हरीश रावत से मुलाकात के बाद बुधवार को दिल्ली रवाना हो गए। इसकी पुष्टि खुद हरीश रावत ने की। हालांकि उन्होंने कहा कि सिद्धू दिल्ली में किससे मिलेंगे, इसकी उन्हें कोई जानकारी नहीं है। इससे पहले मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब प्रभारी हरीश रावत के बीच मैराथन बैठक हुई। बैठक में रावत ने मुख्यमंत्री को नाराज मंत्रियों और विधायकों से मिलकर उनकी शिकायतों को जल्द दूर करने की सलाह दी। इसके अलावा कृषि सुधार कानून, बिजली समझौते, नशा और बस परमिटों के मुद्दों को तत्काल हल करने को कहा। गुरुवार को रावत इस पूरे मामले की रिपोर्ट बनाकर हाईकमान को सौंपेंगे। 

सिसवां फार्म हाउस में कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात के बाद पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने बताया कि हाईकमान के 18 सूत्रीय एजेंडे पर मुख्यमंत्री से बात हुई है। अमरिंदर सिंह ने बताया है कि इन सभी मुद्दों पर काम किया जा रहा है। इसके अलावा कैप्टन को नाराज चल रहे विधायकों और मंत्रियों से मुलाकात कर मनाने का आग्रह किया है। उन्होंने बताया कि कुछ और प्रमुख मुद्दों को भी हल करने के लिए अमरिंदर को कहा गया है। रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री ने सभी मुद्दों पर सकारात्मक कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

मुख्यमंत्री से मुलाकात से पहले हरीश रावत से कैबिनेट मंत्री ओपी सोनी, विधायक राजा वड़िंग और मोहम्मद मुस्तफा ने मुलाकात की।  मो. मुस्तफा ने कहा कि कांग्रेस में समस्या तो है, यदि मैं यह नहीं कहूंगा तो मैं झूठ बोल रहा हूं। इस मसले को हल करने के लिए मैंने सुझाव दिए गए हैं, यदि वह अमल में लाए जाते हैं तो सभी मुद्दे हल हो जाएंगे। राजा वड़िंग ने कहा कि पंजाब प्रभारी से सभी मुद्दों को लेकर बात हुई है। अभी तक मंत्रियों और विधायकों ने जो मुद्दे उठाए हैं, वे हल होने बेहद जरूरी हैं। इसके लिए सोनिया गांधी, फिर राहुल गांधी से बात कर हस्तक्षेप करना चाहिए।

पंजाब में मैं सोनिया गांधी का चेहरा: रावत
पंजाब प्रभारी ने कैप्टन से मुलाकात के बाद पार्टी प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू और विधायक परगट पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पंजाब में वह राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी का चेहरा हैं। उन्हें उनके अधिकारों के विषय में जानकारी देने की आवश्यकता नहीं है।
 
जलियांवाला बाग पर राहुल गांधी का किया बचाव
कांग्रेस महासचिव ने जलियांवाला बाग पर पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान का बचाव किया। उन्होंने कहा कि राहुल और कैप्टन इस मामले में एकमत हैं। मीडिया ने कैप्टन के बयान को गलत तरीके से पेश किया है। उन्होंने कहा कि राहुल जी ने बुनियादी सवाल उठाया है।

बिजली समझौते: कैप्टन के सुर में दिखे रावत
निजी बिजली समझौतों को लेकर हरीश रावत कैप्टन के सुर में सुर मिलाते दिखे। उन्होंने कहा कि कुछ कानूनी अड़चनों के कारण परेशानी आ रही है। हालांकि मुख्यमंत्री से कहा गया है कि बिजली कंपनियों पर दवाब डालकर पंजाब के लोगों को राहत जरूर दी जाए। 

सभी मुद्दों का हल होना बेहद जरूरी
विधायक राजा वड़िंग ने कहा कि पंजाब प्रभारी से मुलाकात के दौरान पंजाब के सभी मुद्दों को लेकर खुलकर बात हुई है। अभी तक जिन मंत्रियों और विधायकों द्वारा राज्य के मुद्दे उठाए जा रहे हैं वह हल होने बेहद जरूरी हैं। इनको हल करने के लिए सोनिया गांधी, फिर राहुल गांधी से बात कर हस्तक्षेप करना चाहिए। 

Related posts