कक्षाओं और परीक्षाओं पर आज होगा फैसला

कक्षाओं और परीक्षाओं पर आज होगा फैसला

शिमला
दसवीं और बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं और कॉलेजों की परीक्षाओं को लेकर शनिवार को फैसला होगा। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में एक मई को सरकार ने स्थिति की समीक्षा कर इस संदर्भ में आगामी फैसला लेने की घोषणा की थी। दसवीं कक्षा और फर्स्ट-सेकेंड ईयर के विद्यार्थी बिना वार्षिक परीक्षाएं लिए प्रमोट किए जा सकते हैं। 12वीं की परीक्षाओं पर सीबीएसई के फैसले का सरकार इंतजार करेगी। कॉलेजों में फाइनल सेमेस्टर और फाइनल ईयर की परीक्षाएं भी करवाने की योजना है।

सरकार ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने पर 17 मई तक दसवीं-बारहवीं और कॉलेजों की परीक्षाएं स्थगित की हैं। बीते दिनों उच्च शिक्षा निदेशालय ने परीक्षाओं को लेकर विभिन्न हितधारकों से सुझाव मांगे थे। अभिभावकों, शिक्षकों, शिक्षक संगठनों, विद्यार्थियों सहित कई अन्य जागरूक नागरिकों ने शिक्षा निदेशालय को सुझाव भेजे हैं। अधिकांश सुझावों में दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों की इस वर्ष वार्षिक परीक्षाएं नहीं करवाने की वकालत की गई है।

इन कक्षाओं के विद्यार्थियों को बीते दिनों हुई प्री बोर्ड परीक्षाओं और फर्स्ट व सेकेंड टर्म की परीक्षाओं के अंकों के आधार पर जमा एक कक्षा में प्रमोट करने की सलाह दी गई है। बारहवीं की परीक्षाएं लेने के सुझाव आए हैं। इन विद्यार्थियों को प्रमोट करने के हक में हितधारक नहीं हैं। उधर, कॉलेजों में फर्स्ट और सेकेंड ईयर के विद्यार्थियों को प्रमोट करने की मांग की गई है। यहां फाइनल सेमेस्टर और फाइनल ईयर के विद्यार्थियों की परीक्षाएं लिए जाने का सुझाव दिया गया है।

इसके अलावा शिक्षण संस्थानों को स्थिति में सुधार होने तक बंद रखने और शिक्षकों को रोस्टर आधार पर स्कूल-कॉलेजों में बुलाने और ऑनलाइन पढ़ाई को लाइव करने की मांग भी गई है। इन सभी सुझावों के आधार पर उच्च शिक्षा निदेशालय ने प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेज दिया है।

Related posts