एनजीओ की सच्चाई जानने पटना जाएगी पुलिस

हमीरपुर। एनजीओ में नौकरी देने के नाम पर युवाओं से धोखाधड़ी करने के मामले में जांच के लिए पुलिस टीम पटना जाएगी। वहां संस्था के तथ्यों को खंगालेगी। संभावना जताई जा रही है कि पुलिस टीम अगले सप्ताह तक पटना के लिए रवाना होगी। होली मेले के समापन के पश्चात पुलिस टीम पटना रवाना हो सकती है। अभी तक की छानबीन में पुलिस संस्था के पदाधिकारियों की पुरानी कारस्तानी को लेकर कोई सुराग नहीं लग पाई है। ऊना जिले में फर्जीवाडे़ में संलिप्त एक अन्य संस्था का पता अवश्य मिला है। इस संस्था का आधार भी पटना (बिहार) ही बताया जा रहा है। हमीरपुर में युवाओं को रोजगार देने के नाम पर साक्षात्कार का आयोजन करने वाली संस्था के पदाधिकारी भी पटना ही मुख्यालय बता रहे हैं लेकिन पदाधिकारियों के पास बात को साबित करने के लिए पुख्ता कागजात नहीं हैं। पुलिस ने फर्जीवाड़े की तह तक जाने के लिए संस्थाओं की वास्तविकता खंगालने का निर्णय लिया है। इसके लिए पुलिस टीम पटना भेजी जाएगी, जो सारे तथ्यों के साथ ही संस्थाओं की भी जांच पड़ताल करेगी।
पिछले दिनों एक एनजीओ ने विज्ञापन के माध्यम से नौकरी के लिए साक्षात्कार प्रक्रिया का प्रचार किया था। साक्षात्कार प्रक्रिया से पहले ही पुलिस ने शिकायत के आधार पर संस्था के तीन पदाधिकारियों को गिरफ्त में ले लिया था। पदाधिकारी संस्था के पंजीकरण और प्रक्रिया को आयोजित करने को लेकर संतोषजनक साक्ष्य नहीं दे पाए थे। एएसपी अरविंद चौधरी ने बताया कि पुलिस की टीम संस्था के तथ्यों को जांचने के लिए पटना के लिए रवाना होगी। टीम की रवानगी को लेकर समय तय नहीं हुआ है।

Related posts