एचपीएससी का पेपर पास करना नहीं होगा आसान, हर बार बदलेगा पैटर्न, ली जाएगी IIT व IIM के विशेषज्ञों की मदद

एचपीएससी का पेपर पास करना नहीं होगा आसान, हर बार बदलेगा पैटर्न, ली जाएगी IIT व IIM के विशेषज्ञों की मदद

चंडीगढ़
जून में तकनीकी शिक्षा विभाग में 437 पदों को भरा जाना है। इस परीक्षा के लिए आयोग ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। परीक्षा पूरी तरह से तकनीकी प्रश्नों पर आधारित होगी।

हरियाणा लोक सेवा आयोग (एचपीएससी) की भर्ती परीक्षा पास करना अब आसान नहीं होगा। एजेंसी के बजाय देश के उच्च स्तर के विशेषज्ञ पेपर तैयार करेंगे। हर परीक्षा के लिए पेपर का पैटर्न बदलेगा। आयेाग ने यह फैसला परीक्षा में नकल या टेंपरिंग रोकने के लिए लिया है। जून में तकनीकी शिक्षा विभाग के 437 पदों की भर्ती के लिए परीक्षा होगी। इस परीक्षा के लिए आयोग ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। परीक्षा पूरी तरह से तकनीकी प्रश्नों पर आधारित होगी। अभी तक आयोग किसी अन्य एजेंसी से पेपर तैयार कराता था।

एजेंसी की ओर से तैयार पेपर ज्यादा कठिन नहीं होता था। पहली बार आयोग आईआईटी और आईआईएम के विशेषज्ञ से पेपर तैयार करवाएगा। आयोग का दावा है कि भविष्य में वही अभ्यर्थी परीक्षा पास कर पाएगा जिसने बड़े स्तर पर तैयारी की है। नकल या फिर टेंपरिंग से पेपर पास नहीं हो सकेगा। जून में तकनीकी शिक्षा विभाग में 437 पदों को भरा जाना है। इस परीक्षा के लिए आयोग ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। परीक्षा पूरी तरह से तकनीकी प्रश्नों पर आधारित होगी।

पुरानी परीक्षा प्रणाली
हर परीक्षा के लिए पैटर्न बदलने के पीछे आयोग का तर्क है कि नौकरी माफिया के लोग पुराने ढर्रे पर चल रही प्रणाली का आसानी से तोड़ निकाल लेते थे। भविष्य वे ऐसा नहीं कर पाएंगे। अलग-अलग परीक्षा के लिए अलग-अलग पैटर्न से दलाल और नौकरी माफिया के सदस्य बाहर हो सकेंगे।
परीक्षा को पारदर्शी और फुलप्रूफ बनाया जाएगा। परीक्षा में फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह के मंसूबों को नाकाम करने के लिए बदलाव किए जा रहे हैं। परीक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए युवाओं से भी सुझाव मांगे गए हैं। अच्छे सुझावों पर विचार किया जाएगा। उनको अमल में भी लाएगा। -आलोक वर्मा, चेयरमैन, हरियाणा लोक सेवा आयोग

Related posts