अवैध कटान मामले में 74 और लाग पकड़े

सुंदरनगर (मंडी)। सुकेत वन मंडल के जयदेवी परिक्षेत्र में अवैध कटान मामले में पुलिस ने रविवार को दो ट्रैक्टरों से 18 लाग बरामद किए थे, वहीं आरोपियों से पूछताछ के बाद सोमवार को पुलिस ने 24 लाग बरामद करने के बाद मंगलवार को 74 लाग और बरामद करने में सफलता पाई है। इसके बाद पकड़े गए लाग की कुल संख्या 116 हो गई है। पकड़ी गई यह सारी लकड़ी जयदेवी वन परिक्षेत्र में करीब 40 चीड़, सफेदा और च्यूली के पेड़ों को काट कर एकत्रित की गई है। इसे कटवाने में वन विभाग के अधिकारियों का ही हाथ बताया जा रहा है। इनके आदेश पर ही पकड़े गए आरोपी लकड़ी को निर्धारित स्थल पर ले जा रहे थे, मगर पुलिस द्वारा लकड़ी पकड़े जाने के बाद वन विभाग द्वारा सारा ठीकरा पकड़े गए आरोपियों के सिर डाल रहा है, जिससे स्थानीय लोगों में भारी रोष है। मंगलवार को जयदेवी क्षेत्र के करीब एक सौ ग्रामीणों ने सुंदरनगर के बीएसएल पुलिस थाने में पहुंच कर पकड़े गए आरोपियों को बेकसूर बताया तथा अवैध कटान के लिए सारी जिम्मेवारी वन विभाग के सिर डाली। ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि जय देवी में जहां यह कटान किया गया है, वहां पर यह सारा काम वन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की उपस्थिति में ही हुआ है। वन विभाग का कहना था कि यह लकड़ी कंसा खड्ड में विभाग द्वारा बनाए जा रहे एक पुल में इस्तेमाल होनी है, जहां पर लकड़ी ले जाने के लिए स्थानीय लोगों को विभाग ने हायर किया था, परंतु जब पुलिस को इसकी सूचना मिली तो वन विभाग ने बेकसूर लोगों को फंसा कर चुप्पी साध ली है। उन्होंने पुलिस से इस मामले में जांच कर असल आरोपियों को हिरासत में लेने तथा बेकसूर लोगों को छोड़ने की मांग की है। अन्यथा इसके खिलाफ सड़क पर उतरने की धमकी दी है। उधर, वन विभाग के वन मंडल अधिकारी अजीत ठाकुर का कहना है कि पकड़ी गई लकड़ी से वन विभाग का कोई लेना देना नहीं है। यह अवैध कटान है, जिसकी पुलिस जांच कर रही है। इधर, डीएसपी सुंदरनगर अजय राणा का कहना है कि अवैध कटान मामले की पुलिस पूरी गंभीरता से जांच कर रही है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उनके खिलाफ कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

Related posts