अभी से जल संकट तो गर्मियों में क्या होगा?

बंगाणा (ऊना)। उपमंडल बंगाणा की तनोह पंचायत के बाशिंदे गर्मी का मौसम शुरू होते ही जल के लिए जूझने लगे हैं। ग्रामीणों के मुताबिक एक सप्ताह से कैहलवीं गांव में पानी की सप्लाई सुचारु रूप से नहीं मिल रही है। तीसरे दिन सप्लाई में भी एक घंटे से ज्यादा पानी गांववासियाें को नहीं मिल पाता है। इसकी भी कोई टाइमिंग नहीं है। ग्रामीणों का कहना है कि विभाग के कर्मचारियों एवं अधिकारियों को उनकी इस समस्या का पता है, लेकिन आज दिन तक कोई पुख्ता हल नहीं निकाला गया है। ग्रामीणों का कहना है कि मार्च में यह हाल है तो मई और जून में क्या होगा? गांववासियों में पुनीत कुमार, राकेश कुमार, प्रकाश चंद, पवन देव, दीपक कुमार, पिरथी चंद ने बताया कि हर साल गर्मियों में उन्हें पेयजल संकट से जूझना पड़ता है। यह सिलसिला पिछले कई साल से चला आ रहा है, लेकिन विभागीय अधिकारियों ने उनकी इस समस्या को कभी संजीदगी से नहीं लिया है। कैहलवीं गांव की जनता ने विभाग से घराें के नजदीक हैंडपंप लगाने की गुजारिश की है। आईपीएच मंडल ऊना के अधिशासी अभियंता हरेंद्र भारद्वाज ने बताया कि बरनोह पेयजल योजना में तकनीकी कारणों से रुकावट पेश आई थी। अब इसको सुचारु रूप से शुरू कर दिया गया है। जिससे गर्मी के दिनों में क्षेत्र की जनता को पानी की समस्या से न जूझना पड़े।

Related posts